Breaking News

ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना बस इतनी शिकायत है – Ae Nargis-e-Mastana (Arzoo)









ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना बस इतनी शिकायत है – Ae Nargis-e-Mastana (Arzoo)

फ़िल्म: आरज़ू / Arzoo (1965)
गायक/गायिका: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: हसरत जयपुरी
अदाकार: फ़िरोज़ खान, राजेंद्र कुमार, साधना




 ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना (बस इतनी शिकायत है) – 2
समझा हमें बेगाना (बस इतनी शिकायत है) – 2
ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना…

हर राह पर टकराए हर मोड़ पर घबराए – 2
मुँह फेर लिया तुमने हम जब भी नज़र आए – 2
हो हमको नहीं पहचाना (बस इतनी शिकायत है) – 2
ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना…

हो जाते हो बरहम भी बन जाते हो हमदम भी
ऐ साक़ी-ए-मैख़ाना शोला भी हो शबनम भी – 2
हो खाली मेरा पैमाना (बस इतनी शिकायत है) – 2
ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना…

हर रंग क़यामत है हर ढंग शरारत है
दिल तोड़ के चल देना ये हुस्न की आदत है – 2
हाय आता नहीं बहलाना (बस इतनी शिकायत है) – 2
ऐ नर्गिस-ए-मस्ताना…





No comments