Breaking News

राजा ललितादित्य

 

राजा ललितादित्य का साम्राज्य मुग़लो से भी बड़ा था,
जिसे इतिहासकार भारत का सिकंदर के नाम से बुलाते हों !
राजा ललितादित्य से मुगलों और सिकंदर की तुलना न करें । तुलना करने वालों का ज्ञान वर्धन की आवश्यकता है ।
पिछले ढाई हजार वर्षों में धरती पर सबसे बड़े भूभाग पर राज्य हुआ करता था राजा ललितादित्य का । चीन का करीब आधा, रूस का दक्षिणी हिस्सा, ईरान तुर्की और मिस्र तक फैला हुआ था उनका साम्राज्य ।।
जिनका साम्राज्य असाम बांग्लादेश से लेकर पूरा तिब्बत , पूर्वी ईरान अफ़ग़ानिस्तान उत्तरी पाकिस्तान का हिस्सा , मध्य चीन , मध्य एशिया के उज़्बेकिस्तान , ताजीकिस्तान , दक्षिण कयरञ्ज़स्तान , दक्षिण पश्चिमी कजाखस्तान और तुर्केस्तान को भी जित लिया था ! जिनका साम्राज्य मध्य भारत तक फैला हुआ था !
जिस राजा ने मोहम्मद बिन कासिम के पंजाब और जम्मू कश्मीर को जितने के सपने को मिट्टी में मिलाया ,
जिसने उसे मार मार कर भागने पर मजबूर कर दिया उसे आज कोई नही जानता !
पुरे भारत के लिए ये लानत की बात है की जी वीर योद्धा ने अरबो को कश्मीर और पंजाब से मार्कर खदेड़ा , जिसके कारन इस्लामिक आक्रांता कश्मीर और पंजाब में 250 + वर्ष तक आने की दोबारा हिम्मत तक न कर सके उसे कोई नही जानता !
ये भारत का ऐसा सुरमा वीर योद्धा है जिसने उज़्बेकिस्तान को चार बार जीता , उज़्बेकिस्तान के सुल्तान ने चार बार बगावत की और राजा ललितादित्य ने चारो बार उसकी बगावत को कुचल डाला और सुल्तान को चारो बार भारी कर देना पड़ा ,
ये वही उज़्बेकिस्तान है जहाँ से मुग़ल और तैमूर मुस्लिम आक्रांता आये थे !
ऐसे वीर राजपूत को भारतीय इतिहास की किताबो में कोई जगह नही मिली ! डूब मरना चाहिए जिसने स्कूल और कॉलेज की किताबे लिखी है...
 
Source: Internet (Facebook) 
 



No comments